देशभक्ति के प्रमाणपत्र के फ़ायदा

हमारे देश में 120 करोड़ लोग हैं पर हमारे देश में क्या लोग देशभक्ति हैं? होंगे, ज़रूर होंगे पर बाकी सारे लोग कैसे जानेंगे कि आप देशभक्ति हैं? भाई, स्टेटस का सवाल है। आज कल देशभक्ति की मार्केट में वैसे ही क़ीमत है जैसे पहले कभी बाबा लोगों की होती थी।

हो सकता है कि आप देशभक्ति का प्रमाणपत्र न चाहते हों पर जरा जान लीजिये कि देशभक्ति के प्रमाणपत्र का क्या फ़ायदा हैः-

फ़ायदा संख्या 1 – आप कहीं भी देशभक्ति कर सकते हैं। जी हाँ, किसी मंदिर या मस्जिद बनवाने के लिये बलवा, टैक्स की चोरी करना, वोट के लिये दंगे, आरक्षण के लिये मारकाट सब कर सकते हैं और आपको कोई कुछ नहीं कहेगा। अरे आप एक प्रमाणित देशभक्त जो होंगे।

फ़ायदा संख्या 2 – आपकी इज़्ज़त बन जायेगी। जी हाँ, इस देश में गंगा में नहाने से भले 1000 पाप न धुलें पर देशभक्ति का प्रमाणपत्र पाते है 100 ख़ून भी माफ़ हो जायेंगे। कोई भगवा पार्टी आपको पूरा संरक्षण देगी। फ़िर अगर आप किसी को सरेआम गाली दें, किसी को पीटे या हत्या भी कर दें, सब हमेशा माफ़ रहेगी। आपको तो सम्मानित भी किया जायेगा। बस याद रखें, देशभक्ति का राग अलापना है।

फ़ायदा संख्या 3 – आपके विरोधियों का स्वतः खात्मा हो जायेगा। जी हाँ, अगर आपको देशभक्ति का प्रमाणपत्र मिला है तो आपके विरोधियों को देशद्रोही कह कर जेल में ठूंस दिया जायेगा। आप बस अपने घर पर आराम से सब कुछ देखना।

फ़ायदा संख्या 4 – आप स्वतः स्वच्छ हो जायेंगे। नहीं, नहीं। ये स्वच्छ भारत अभियान वाला स्वच्छ नहीं है। वो तो विफल हो गया है। इस प्रमाणपत्र से आपके पुराने सारें कुकर्म छुप जायेंगे। नहीं, नहीं, आपको देशभक्ति करने के लिये फिर स्वच्छ भारत अभियान में भाग लेने की भी ज़रूरत नहीं।

फ़ायदा संख्या 5 – दूसरों पर कीचड़ उछालने पर भी आपके हाथ गंदे नहीं होंगे। जी हाँ, ये हमारा ऐसा प्रमाणपत्र हो जो आपको भले मडप्रूफ न बनाए पर आपके द्वारा किसी दूसरे पर उछाले कीचड़ से आपकी रक्षा ज़रूर करेगा।

तो ये रहे देशभक्ति के प्रमाणपत्र के चंद पर महत्वपूर्ण फ़ायदे। काश, चंद्रशेखर आजाद और भगतसिंह ने देशभक्ति के प्रमाणपत्र की खोज की होती तो उन्हें अपनी जान न देने पड़ती। उप्स, माफ़ कीजियेगा। अगर उन्होंने देशभक्ति के प्रमाणपत्र की खोज की होती तो उन्होंने “Long Live the Queen/King” कहा होता।

Note:- ये लेख तत्काल में चल रही गतिविधियों पर एक व्यंग्य है। कृपया इसे गंभीरता से लें और सोचें कि कौन वो लोग हैं जो देश की समस्याओं पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.